राज्य

सावन में कावड़ यात्रा निरस्त होने पर भारतीय डाक की अनूठी पहल

Publish Date: 14-07-2020 Total Views :598

सावन

सावन में पवित्र गंगाजल का विशेष महत्व होता है। इस माह भोलेनाथ का शिवभक्त गंगाजल से जलाभिषेक करते हैं। लेकिन, कोविड-19 के चलते राज्य की सीमाओं पर सख्ती और कांवड़ यात्रा स्थगित होने से उनके लिए गंगाजल लाना संभव नहीं हो रहा है। ऐसे में डाक विभाग आप तक गंगाजल पहुंचाने में मददगार साबित हो सकता है। 30 रुपये में 250 मिलीलीटर गंगाजल की बोतल विभाग दे रहा है।

आप अपने नजदीकी डाकघर कार्यालय में इसके लिए ऑर्डर दे सकते हैं। डाक विभाग ‘हर घर गंगाजल’ योजना के तहत गंगाजल घर पहुंचाता है। सावन माह शुरू होते ही विभाग के पास इसके ऑर्डर में तेजी आई है।
देहरादून स्थित चीफ पोस्टमास्टर जनरल कार्यालय में उत्तराखंड से ही नहीं, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हरियाणा आदि राज्यों से कई ऑर्डर मिले हैं। जुलाई माह के पहले सप्ताह में ही पिछले माह की तुलना में दोगुने ऑर्डर मिले हैं। इनमें उत्तरप्रदेश और मध्य प्रदेश से ज्यादा आर्डर हैं।

डाक विभाग का उत्तरकाशी कार्यालय, गंगोत्री स्थित गोमुख से गंगाजल लाता है। इस गंगाजल को फिल्टर करने के लिए उत्तरकाशी जिले में एक प्लांट लगाया है। फिल्टर के बाद गंगाजल को डाककर्मी 250 मिली लीटर की बोतल में पैक करते हैं। यहां से गंगाजल की बोतलें देहरादून स्थित जीपीओ में भेजी जाती हैं। उत्तराखंड सर्किल कार्यालय को देशभर के डाक सर्किल से गंगाजल के ऑर्डर दिए जाते हैं।

किस माह कितने ऑर्डर
1 से 22 मार्च तक : 600 ऑर्डर, अप्रैल : शून्य (लॉकडाउन के कारण), मई : 90 ऑर्डर, जून : 791 ऑर्डर, 1 से 12 जुलाई तक : 559 ऑर्डर मिले।

कांवड़ यात्रा स्थगित होने के कारण श्रद्धालु गंगाजल लेने नहीं जा पा रहे हैं। ऐसे में वह स्थानीय डाकघर कार्यालय में संपर्क कर रहे हैं गंगाजल के लिए ऑर्डर दे रहे हैं। जुलाई में ही 559 ऑर्डर मिले हैं।

news source by- amar uajala