राज्य

विश्व हिन्दू परिषद -गौ रक्षा विभाग द्वारा किसानों को जैविक कृषि पद्धति शिविर का आयोजन किया

Publish Date: 29-10-2020 Total Views :16

विश्व

रुड़की/मनव्वर क़ुरैशी।विश्व हिंदू परिषद-गौ रक्षा विभाग द्वारा किसानों को भारतीय गौवंश आधारित जैविक कृषि पद्धति के लिए प्रेरित करते हुए जैविक कृषि प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया।शिवपुरी टोडा एहतमाम स्थित श्रीकृष्ण प्रणामी गौसेवा धाम में आयोजित एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में जिला हरिद्वार से दर्जनों किसानों ने प्रतिभाग किया।प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ करते हुए मेयर गौरव गोयल ने कहा कि पूरा विश्व आज रसायन विहीन जैविक उत्पादों की ओर आकर्षित हो रहा है।हमारे देश में इसे पारंपरिक खेती के रूप में पहले से ही अपनाया जाता रहा है।बीते कुछ दशकों से हमारे किसान अधिक उपज के चक्कर में रासायनिक खेती की ओर बढ़ चले,जिसका खामियाजा अब सामने आने लगा है।आज विश्व बाजार में जैविक उत्पादों की खासी मांग है,जिसे पूरा कर देश का किसान संपन्न हो समृद्ध हो सकता है।प्रशिक्षण शिविर के प्रथम सत्र में गौ रक्षा विभाग के केंद्रीय मंत्री वासुदेव पटेल ने भारतीय गोवंश के रक्षण और संवर्धन की आवश्यकता पर जोर दिया तथा कहा कि चालीस लीटर दूध देने वाली गाय को पालने के बावजूद ना तो किसान समृद्ध हो सका और ना ही कृषि भूमि,बल्कि देश में शुगर हृदय रोग कैंसर, याददाश्त का कमजोर होना,जोड़ों के दर्द जैसी बीमारियां घर-घर अपना पैर पसार चुकी है।जमीन बंजर हो रही हैं,यदि देशवासियों को स्वस्थ और किसानों को समृद्ध बनाना है तो हमें देसी नस्ल का गोपालन और जैविक खेती को फिर से अपनाना होगा।विहिप गौ रक्षा विभाग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा. केपी सिंह ने किसानों को देसी गाय के दूध से बनी छाछ और गुड के साथ गौ कृपा अमृत बनाना सिखाया,जिससे कंपोस्ट खाद बनाना तथा अनेक प्रकार के पेस्टिसाइड बनाए जा सकते हैं।उन्होंने सभी विधियों का किसानों को विस्तार से विवरण दिया और बनाना सिखाया।उन्होंने बताया कि गौ कृपा अमृत द्वारा गाय के गोबर से केवल 45 दिनों में खाद बनाई जा सकती है।शिविर में किसानों को गो कृपा अमृत निशुल्क दिया गया।इससे पूर्व शिविर का शुभारंभ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया तथा पंडित वीरेंद्र प्रसाद बड़ोला द्वारा मंत्रो का पाठ किया गया।शिविर में गौ रक्षा विभाग के प्रांत अध्यक्ष देवेंद्र पाल प्रांत सहमंत्री,देवेंद्र वर्मा जिला अध्यक्ष,विनोद त्यागी, विभाग अध्यक्ष राजकुमार, गोपाल कृष्ण,संतोष पंत कुलदीप सिंह,हाकम सिंह आर्य,जितेंद्र सैनी,सहदेव सिंह मलिक आदि ने सहयोग किया।अध्यक्षता करते हुए सभा में सागर सिंद्धूराज जी महाराज ने गौ सेवा तथा स्वदेशी अपनाने पर जोर दिया।