राज्य

रुड़की एआरटीओ कार्यालय का एक और कारनामा क्या हैं मामला देखे पूरी खबर

Publish Date: 16-09-2020 Total Views :41

रुड़की

रुड़की: रुड़की एआरटीओ कार्यालय का एक और कारनामा सामने आया है। एक व्यक्ति के पते पर कार का पंजीकरण कर दिया गया। जबकि व्यक्ति को इस बात की जानकारी तक नहीं। दिल्ली पुलिस की ओर से जब उसके घर पर रेड लाइट जंप करने के आरोप में चालान पहुंचा तो इस बात की जानकारी मिली। पीड़ित ने इस मामले में एआरटीओ को पत्र देकर पंजीकरण रद करने एवं कानूनी कार्रवाई किए जाने की मांग की।

बहादराबाद थाना क्षेत्र के रोहालकी किशनपुर गांव निवासी बलराम चौहान ने मंगलवार को एआरटीओ कार्यालय पहुंचकर बताया कि तीन दिन पहले उनको दिल्ली पुलिस का एक चालान प्राप्त हुआ। चालान रेड लाइट जंप करने का था, जो वाहन का नंबर दिया गया है। वह उनके पास नहीं है। एआरटीओ दफ्तर पर छानबीन की गई तो पता चला कि उनके पते पर केयर ऑफ कर इस वाहन का पंजीकरण किया है। इस पर बलराम चौहान के होश उड़ गए। उन्होंने बताया कि वह तो कभी रुड़की एआरटीओ दफ्तर आए ही नहीं न ही वर्ष 2018 में कोई वाहन पंजीकृत कराया है। उन्होंने किसी को भी अपनी आइडी, फोटो आदि नहीं दिया है। फिर कैसे वाहन पंजीकरण हो गया है। उन्होंने बताया कि इस कार से कोई बड़ा अपराध भी हो सकता है। कार का पंजीकरण रद किया जाए। साथ ही इस गाड़ी को बंद कराया जाए। उन्होंने मांग उठाई कि इस मामले में मुकदमा दर्ज कराया जाए। इस संबंध में एआरटीओ रुड़की ज्योतिशंकर मिश्रा ने बताया कि पंजीकरण दो साल पहले हुआ है। छानबीन की जा रही है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।